Anupama 3 August 2020 Writing update

Anupama

Anupama 3 August 2020 Writing update में आपको दिखाया जाएगा कि जब अनुपमा किचन में होती है तो समारोह उसका बेटा भी उसके साथ होता है तभी अनुपमा अपने बेटे से कुछ इंग्लिश में बातें पूछ रही होती है तभी समर उसे बता रहा होता है और समर कहता है कि मैं आप जहां से वहां बैठे हैं पापा तेरे को भी बना देता हूं लेकिन मैं कहती है तो तुम्हें पता है कि हमारे पापा सिर्फ मेरे हाथ की बनी कॉफी पीते हैं इसलिए तुम जाओ मैं बनाकर लाती हूं।

Anupama 3 August 2020 Writing update

तभी समर बाहर की तरफ जाता और रहता है कि पापा को मां की या तभी आती है जब इन्हें मां की जरूरत होती है देखेंगे तब नहीं आती जब अपने बेटे के लिए रिश्ता देखना होता है।

Advertisement

मुस्कुरा देते हैं अनुपमा बहारों में नाराजगी भी कभी नहीं रहती है तभी हमारा अपनी मां को किंजल के पास है जहां पर बिठा देता है। अभी फोन करो अनुपमा से कहती है कि खाएंगे मुझे आपसे बात करने का मौका मिला उनका मां कहती है कि मैं भी बहुत देर से तुमसे बात करना चाह रही थी तभी आप देखते हैं कि अनुपमा की सास है इससे कहती है कि मेहमानों के लिए कुछ और चाहिए तो लेकर आओ। तो आगे से किंजल के पापा कहते हैं कि हमें और कुछ नहीं चाहिए।

देखते हैं कि बातों-बातों में अनुपमा के बारे में बातें शुरू हो जाती है उसकी सांस कहती है कि अगर अनुपम खेर होती तो उसके हाथ का बना हुआ खाना आपको खिला दो तो वह कह देती है कि दरअसल यह स्कूल में नौकरी करने के लिए जाती है तो फिर दिल के तेरा सोचते हैं कि आपने बताया ही नहीं लेकिन आप लगती नहीं है कि आप नौकरी करती होगी तभी हम कमा के साथ करती है कि यह स्कूल में बच्चों को खाना बनाना सिखाती है यह कोई बड़ी बात है क्या।

किंजल के घर वालों को पता चल जाता है कि अनुपमा ग्रेजुएट भी नहीं है तो किंजल की मां तोशी से पूछती है कि तुमने हमें बताया ही नहीं तुम्हारी माया जी एक भी नहीं है।

Advertisement

अभी आप देखते हैं कि घर वाले किंजल और दोषी को एक रूम में पहले भेज देते हैं तभी आप देखते हैं कि किंजल जोशी से पूछती है कि तुमने मुझे कभी बताया क्यों नहीं तुम्हारी मां ग्रेजुएट भी नहीं है तो आगे से तो उसी कहता है कि इसमें मा के बारे में क्या बताना था मैं पढ़ा हूं ना। एंजेल कहती है कि लेकिन मेरे पेरेंट्स यानी कि मेरी आंखों से फर्क पड़ता है मेरे पापा भी मान जाएंगे लेकिन मां अगर नहीं मानी तो मेरा अपने पेरेंट्स के खिलाफ जाना मुश्किल होगा तो अभी से तोशी कहता है कि यह तुम क्या कह रही हो। तभी वहां पर समर और पाकी आ जाते हैं और वह तोषी और किंजल को चिढ़ाने लगते हैं।

तभी आप देखते हैं कि किंजल के घर वाले घर जाने के लिए रेडी हो जाते हैं और एंजेल की मां उसके पापा से कहते हैं कि जल्दी चलिए हमने देरी हो रही है हमेशा यार बाहर खड़ी की है वहां तक चलते भी जाना होगा। तभी अनुपमा किंजल के घरवालों को कहती है कि आप जब इंगेजमेंट पर आएंगे तो मैं अपने हाथों से बना कर खाना आपको खिलाओगे तभी किंजल की मां बोलती है कि इतनी जल्दी ही क्यों है आज तो हमने सिर्फ आपका घर परिवार देता है हम घर जा कर सोचेंगे कि क्या करना है। और इस तरह है वहां से चले जाते हैं।

तभी आप देखते हैं कि पापी काव्या का धन्यवाद करती हो तो उसने इतना अच्छा खाना मंगवाया है तो आगे से कालिया कहती है कि मेरा नहीं तुम तो उसी का धन्यवाद करो क्योंकि उसने ही मुझे यहां बुलाया है यह सब कुछ अनुपमा सो रही होती और उसे बहुत बुरा लग रहा होता है कि उसके बेटे ने काव्या को तो बुलाया लेकिन मुझे एक बार भी नहीं कहा कि आज इन लोगों ने आना है।

तभी आप देखते हैं कि सभी घरवाले आ जाते हैं और तभी तो सी भी आता है और अपनी दादी से कहता है कि आपको मांग की पढ़ाई के बारे में बताने की क्या जरूरत थी और वह कहता है कि मां के वजह से अब मेरी शादी नहीं होगी क्या तबीयत देते हैं कि तोशी अपने मां को बहुत आसन आता है तो उनको मायू सुन कर दुखी हो जाती है वह कहती है कि यह सब कुछ तुम्हारी वजह से हो रहा है और वह कहता है कि हां जब आप यहां नहीं थी तो सभी कुछ अच्छा चल रहा था काव्या से लोग को बहुत इंप्रेस थे लेकिन जब आप आए तो सभी उल्टा होने लगा। अनुपमा में सुनकर बहुत दुखी हो जाती है समर वहां पर नहीं होता कुछ देर बाद वह वहां पर आता है।

Read also:- Motivation Story In hindi

तभी पाकी भी अपनी मां से कहने लगते हैं कि हां हां मुझे भी इतना इन बैलेंस फील हुआ आज स्कूल में जिस तरह प्रिंसिपल ने आपको नौकरी से निकाला यह सुनकर समय और घरवाले हैरान हो जाते हैं तभी समर पूछता है कि यह सब कुछ क्या है मां।तभी मनराज अपनी पत्नी से कहते हैं कि यह काम सिर्फ तुम ही कर सकती हो तुम्हें एक नौकरी मिली होगी तुम अच्छे तरीके से नहीं कर पाए इस सनम नाराज है उसे बहुत कुछ सुनाता है तभी आप देते हैं कि वह वहां से जाने लगते हैं। तभी अनुपमा बोलती है कि इस बार मैं गलत नहीं हूं जब यह मनराज सुनता है वह पलट कर देखता है। आज का एपिसोड यहां ही खत्म होता है।

Anupama 4 August 2020 Writing update

कल के एपिसोड में आपको दिखाया जाएगा कि अनुपमा सभी को कह रही होती है कि इस बार मेरी गलती नहीं होगा तो उसी से भी कहती है कि तुम्हें अपनी शादी के लिए बाहर वालों की जरूरत क्यों पड़ी तुम्हारी मां है ना वह बात करेगी तुम्हारी शादी की लड़की वालों से।अभी आप देते हैं कि मैं नाराज और अनुपम अंदर होते हैं और मनाराज अनुपमा से कह रहा होता है कि आज तुमने सारी फैमिली का कार्य के सामने तमाशा बना दिया तुम कोई भी काम अच्छे तरीके से नहीं कर सकती और बह जाता है कि तुम चौका चूल्हा संभालने के अलावा कुछ नहीं कर सकती और जो तुम्हारे पास जो रिश्ते हैं लगता है तुम उससे से भी हाथ धो बैठोगे जो तुम यह सब कुछ कर रही हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *