Anupama 27th July 2020 Writing update

Anupama

Anupama 27th July 2020 Writing update के एपिसोड अनुपमा में आपको दिखाया जाएगा कि अनुपमा के घर पर उसके साथ अपने नाश्ते का ख्याल रखते रखते थक जाती है और वह उसकी नातिन किचन में जाकर एक गिलास तोड़ देती है तो अब देखते हैं कि उसकी नानी जाकर रसोई में से पांच उठाने लगती है और उसको बोलने लगती है कि यह सभी तुम्हारी मामी की ही गलती है इसे सब कुछ ठीक जगह पर रखते जाना चाहिए था तो आगे से मीनू कहती है कि इसमें मामी की क्या गलती है यह तो किसी से भी गलती हो सकती है।

Anupama 27th July 2020 Writing update

Advertisement

फिर आप देखते हैं जी मीनू और उसकी मां ने दोनों बहुत झगड़ने लगती है । तभी उसकी नानी उसकी मां को फोन लगाती है और उसका कहती है कि इसको अभी यहां से लेकर जाओ इसमें मेरे सर में दर्द कर दिया है तो आगे से यह कहती है कि बड़ी है और बड़ों जैसा मैं बाहर कीजिए ना बच्ची के साथ बच्ची क्यों बन रही है।

दूसरी तरफ देखते हैं कि अनुपमा टीचर के ऑफिस में जाती है और तभी टीचर उससे कहती है कि अनुपमा जी आज तो आपने कमाल ही कर दिया पहले जब आप सुबह लेट आई थी तो मैं डाउट में थी कि मैंने आपको काम देकर ठीक किया जा नहीं लेकिन अब मुझे विश्वास हो गया है कि आप से बेहतर यह काम कोई कर ही नहीं सकता था।तभी टीचर अनुपमा हमसे कहती है कि तुम्हारे घरवाले और तुम्हारे पति बहुत खुशकिस्मत हैं कि उन लोगों को आप मिले तो अनुपमा यह सुनकर बहुत खुश हो जाती है। तभी टीचर उसके काम से खुश होकर उन्हें एडवांस सैलरी दे देती है जब वह चैट देती है तो अनुपमा यह देखकर बहुत खुश हो जाती है और उसे विश्वास नहीं हो रहा है ताकि वह उसकी पहली कमाई है तो बिना बोले अनुपमा उस चेक को देखते देखते स्कूल से निकल जाती है और सारे रास्ते बहुत खुश होती है ।तभी आप देखते हैं कि जब अनुपमा घर पूछती है तो घर के दरवाजे के बाहर वह अपने बड़े बेटे को देखती है कि वह एक लड़की के साथ होता है तभी अनुपमा कहती है कि इसकी गर्लफ्रेंड होगी तो वह कहती है कि कृष्णा जी आप तो मेरा दर्जा बढ़ाते जा रहे हैं पहले मां से टीचर बने और अब लगता है सांस भी बनने जा रहे हो तभी आप देखते हैं कि अनुपमा अंदर जाती है लेकिन अंदर जाते हैं वह देखती है कि उसके साथ उससे अच्छे से बात नहीं कर रही होती तभी उसकी सांस अनुपमा से कहती है कि आज तुम्हारी मीनू ने मेरा सर दर्द कर दिया उसने आज मुझे बहुत तंग किया है।

हिंदी मोरल कहानी | Gautam Buddh Motivation Story In Hindi

Advertisement

तभी आप देखते हैं कि वह फिर झगड़ने लगते हैं और वहां पर मीनू की मां भी आ जाती है और वह भी अपनी मां को बोलने लगती है कि मामा जी ने मुझे सब कुछ बता दिया कि आप बच्चों की तरह कैसे मीनू के साथ लड़ रही थी आपसे तो अच्छी भाभी है जिन्होंनेमीनू को बुखार होने और कोई और मुसीबत होने पर भी मुझे फोन नहीं किया खुद से ही हैंडल किया लेकिन आज भाभी दो घंटा के लिए ही बाहर क्या गई कि आप मीनू को 2 घंटे ही नहीं संभाल सकी।

इस तरह देखते हैं कि वह दोनों मां बेटी लड़ने लगती हैं अनुपमा उन्हें चुप कराने की कोशिश करती है लेकिन वह बहुत ज्यादा झगड़ रही होती है तभी मीनू की मां अपनी मां से कहती है कि अच्छा है मेरी सांस आपकी तरह नहीं है भाभी आपको पता नहीं कैसे खेलती होंगी तो आगे से उसकी मां कहती है कि अगर तुम्हारी सांस इतनी अच्छी आदत तुम मीनू को यहां पर क्यों छोड़कर जाती हो अपनी सास के पास क्यों नहीं छोड़ती से आगे से उसकी बेटी कहती है कि आपने ही तो मुझे कहा था कि मेड को पैसे की जरूर देना है तुम मीनू को यहां छोड़ दिया करो अनुपमा है ना उसे संभालने के लिए तो जब यह सच अपनी मां से कहती है तो आगे से उसकी मां कुछ नहीं बोलती लेकिन अनुपमा को बुरा लगता है।देखते हैं कि उसकी बेटी अपनी मां को बहुत ज्यादा सुनाने लगती है लेकिन अनुपमा उन्हें कहती है कि बेटी को हक है मां से लड़ने सका लेकिन उसकी भी एक हद होती है लेकिन आप यह हद मत बात कीजिए आप मुझसे बड़ी है और मैं आप से झगड़ नहीं सकती इसलिए आप प्लीज अब चुप कीजिए और शांति से बैठ जाए मैं आपके लिए चाय बना कर लाती हो और आपका टिफिन भी पैक कर दूंगी तो आप देखते हैं कि वह वहां पर बैठ जाती है तभी अनुपमा किचन में जाती है और किचन में जाकर अपनी मेड से फोन पर बात करती है कितुम कहां पर रह गई थी तुम आज यहां पर नहीं थी तो सासु मां को मीनू को अकेले संभालना पड़ा और तुम्हें पता नहीं सासु मां और उसकी बेटी मैं बहुत झगड़ा हुआ और मैं उसे कहती है कि तुम आप जल्दी आ जाओ।

तबीआप देखते हैं कि देखते हैं कि अनुपमा जल्दी-जल्दी खाना बनाने लगती है तभी वहां पर उसका बेटा समर आता है और अपनी मां से पूछने लगता है कि मां का पहला दिन कैसा था तो अब देखते हैं कि वह समर कहती है कि तुम यहां से जाओ मुझे काम करने दो और वह समर से कहती है कि तुम्हें नहीं पता कि आज घर में सांसों मां और तुम्हारी बुआ की लड़ाई हो गई मेरे जाने से कितने काम बिगड़ गए हैं। तभी समर कहतामां प्लीज आप अपने बारे में कहिए आपका दिन कैसा था आज तो अब देखते हैं कि अनुपमा समर से कहती है कि आज के दिन प्रिंसिपल मैडम ने मेरी तारीफ की और उन्होंने मुझे एडवांस दिया है तो समय यह सुनकर बहुत खुश हो जाता है और अपनी मां का आशीर्वाद लेने लगता है तभी अनुपमा कहती है कि यह क्या कर रहे हो तो समर कहता है कि मुझे आप पर आज प्राउड वाली फीलिंग आ रही है तो आप देखते हैं कि समर अपनी मां से कहता है कि आप मुझे टी-शर्ट पर ओटोग्राफ दीजिए। अनुपम आगे से कहते कि टी-शर्ट न्यू है खराब हो जाएगी लेकिन आगे से समर कहता है कि नहीं टीशर्ट पुरानी है आप मुझे ऑटोग्राफ दीजिए तभी आप देखते हैं कि अनुपमा हल्दी से अपने बेटे की टीशर्ट पर अनुपमा नाम से ऑटोग्राफ देती है। इस तरह आज का एपिसोड यहीं खत्म होता है।

Anupama 28th July 2020 Writing update

कल के एपिसोड में आपको दिखाया जाएगा कि अनुपमा के पति जब ऑफिस से आते हैं तो वह बहुत खुश होते हैं और वह कहते हैं कि 500000 का हमें कॉन्ट्रैक्ट मिला है यह सुनकर घर वाले बहुत खुश हो जाते हैं अनुपमा अपने काम के बारे में बताने ही लगती है कि आगे से उसका पति कहता है कि अनुपमा मेरे लिए अदरक वाली चाय बना कर लाओ। इस तरह आपको कल के एपिसोड में दिखाया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *