ज्यादा से ज्यादा खाना चाहिए तरबूज | तरबूज के फायदे

ज्यादा से ज्यादा खाना चाहिए तरबूज

गर्मियों का मौसम शुरू होता है तो सड़कों पर तरबूज ही तरबूज दिखाई देते हैं, यह गर्मियों के मौसम का ठंडा फल है, हमें इसे ज्यादा खाना चाहिए. तरबूज एक बेमिसाल है जो गर्मियों के मौसम में पाया जाता है और यह हमारे शरीर का बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है.

तरबूज की बात की जाए तो तरबूज को अनेक नामों से जाना जाता है जैसे कि मतीरा, पानीफल, कालिन्द आदि. संस्कृत में इसे कालिन्द’ तथा मराठी में ‘कलिंगड़’  कहां जाता है. यह फल कुदरत की ओर से एक अनमोल देन है. यह गर्मियों का ठंडा पानी माना जाता है.

गर्मियों के मौसम में ज्यादा गर्मी होने के कारण हमें पसीना आता है. पसीना आने से शरीर में प्राकृतिक लवणों की मात्रा बहुत कम हो जाती है. जिसके कारण हमारा शरीर कमजोर हो जाता है और हमें कमजोरी महसूस होने लगती है. गर्मियों के मौसम में बहुत ही ज्यादा प्यास लगती है. इसीलिए तरबूज इस प्यास को बुझाने में मदद करता है और इसके साथ साथ शरीर में पसीने के दौरान करने वाले विभिन्न लवणों की भी पूर्ति हो जाती है. तरबूज खाने से हमारे शरीर में एनर्जी आती है और सुस्ती भी गायब हो जाती है. तरबूज खाने से घबराहट भी दूर हो जाती है. तरबूज अच्छा मल शोधक फल है. इसीलिए हमें ज्यादा खाना चाहिए तरबूज.

Advertisement

तरबूज खाने से हमारे शरीर में सफाई भी हो जाती है और जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक तत्व होते हैं. मूवी मल मुत्तर की मदद से बाहर निकल आते हैं. तरबूज हमारे शरीर में कुंती कम मात्रा को पूरा करता है. हमारे शरीर को ठंडक और ताजगी देने में सहायता करता है. इसीलिए हमें ज्यादा खाना चाहिए तरबूज.
तेलुगु आज हमारे खून को लाल और इसमें पूर्ति करता है. तरबूज खाने से गर्मी से बचाव होता है. इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि 2-3 गिलास तरबूज चिक्का प्रतिदिन रस पीने से पेट की पथरी को नष्ट कर देता है.

तरबूज के रसायनिक गुण, तरबूज के आयुर्वेदिक गुण,
Watermelon

तरबूज खरीदते समय रखें ध्यान?

जब हम तरबूज करते हैं तो हमें सबसे बड़ा ध्यान रखना चाहिए कि तरबूज चाहे बड़ा हो चाहे ओवल शेप  का, हमें ध्यान रखना चाहिए कि यह तरबूज सामान्य रूप से बड़ा हुआ हो. उस पर कोई कटाई जा क्रॉस का निशान ना हो. जमीन पर तरबूज का जो हिस्सा नीचे होता है. उस पर स्पॉट (धब्बा) होता है. स्पॉट हरा हो तो समझ लेना कि प्रभु जी अभी तक हुआ नहीं है, यह अभी कच्चा है. अजय हिस्सा पैदा हो गया हो तो समझ लेना कि तरबूज पक गया है. इसीलिए जब हम उस पर कोई वस्तु को मारेंगे तो उस पर टप-टप की आवाज आएगी. तरबूज में ज्यादा से ज्यादा पानी भरा होता है. इसीलिए वही तरबूज में जो शेर और वजन में भारी हो.

तरबूज के रसायनिक गुण

तरबूज के रासायनिक गुण:- तरबूज के रसायनिक गुण की बात की जाए तो तरबूज में 100 ग्राम गुर्दा होता है, 95.8 ग्राम जल की मात्रा होती है. 3.3 graam kaaborhaidret, 0.2 graam proteen, 0.2 graam vasa, 0.2 graam resha, 12 mileegraam phaasphoras, 11 mili gram. kailshiyam, 7.9 mili gram. lauh tatv, 1 mili gram. vitaamin see, 0.1 mili gram. niyaasin, 0.04 mili gram. raibophlevin, 0.02 mili gram. thaayamin, 16 किलो कैलोरी ऊर्जा इत्यादि और अनेक तरह के तत्व पाए जाते हैं. तरबूज में बताया जाता है कि इस मे लाइकोपिन भी पाया जाता है. हमारे शरीर को वजवान बनाए रखता है. जय कैंसर को कर्म करने का बहुत ही बढ़िया फल है. तरबूज के रसायनिक गुण

Advertisement

तरबूज के आयुर्वेदिक गुण

तरबूज के आयुर्वेदिक गुण:- तरबूज के आयुर्वेदिक गुण की बात करें तो त्रिभुज हमारे हृदय को ताजा रखने में मदद करता है. जय हमारे शरीर में सफाई करता है और शरीर में पानी की मात्रा को भी पूरा कर देता है. यह प्यास बुझाने वाला एक अच्छा फल है. तरबूज खाने से फेफड़े के रोग, चमड़ी के रोग, हमें पेट में जलन होती है उसको भी बहुत जल्दी गायब करने में मदद करता है.

Read More:- नींबू खाने से क्या फायदा होता है, benefits of lemons In hindi

तरबूज खाने के फायदे

तरबूज खाने के फायदे, तरबूज के बीज के गुण
Watermelon

तरबूज खाने के फायदे:- हमें तरबूज खाने के बहुत ही ज्यादा फायदे होते हैं जैसे कि नीचे दिखाया गया है:-

● तरबूज खाने से उक्त रक्तचाप में भी रोकथाम हो जाती है.
● जो व्यक्ति मोटर कांड को कम करना चाहते हैं उनके लिए यह फल बहुत ही ज्यादा लाभदायक है.
● जो व्यक्ति पोलियो बीमारी से पीड़ित होते हैं उनके लिए तरबूज बहुत ही ज्यादा अच्छा माना गया है. क्योंकि यह खून की मात्रा खोलो बढ़ाता है और ऐसे फिल्टर कर देता है.
● जिन लोगों को कब्ज की शिकायत होती है. उनके लिए तरबूज खाना बहुत ही ज्यादा अच्छी बात है.
● खाना खाने के बाद तरबूज के रस को पिया जाए तो खाना अच्छे तरीके से फंस जाता है. ऐसे हमें नींद भी अच्छे आती है.
● जब बहुत ही ज्यादा गर्मी पड़ती है तो तरबूज के रस को पिया जाए तो इसके हमारे शरीर को बहुत ज्यादा लाभ होंगे.
● गर्मियों में तरबूज के ठंडे-ठंडे रस पीने से ताज की तो मिलती ही है. इसके साथ-साथ हमारे चेहरे पर अलग ही निखार होता है.
● तरबूज खाने से खांसी कम हो जाती है.
● जो लोग तनाव और डिप्रेशन में रहते हैं उनके लिए तरबूज बहुत ही ज्यादा लाभदायक माना गया है.
● जिन लोगों को विटामिन ‘ए’ और विटामिन ‘सी’ की कमी होती है उनके लिए तरबूज खाना बहुत ही अच्छी बात है क्योंकि इसमें विटामिन ‘ए’ और विटामिन ‘सी’ पाया जाता है. विटामिन से हमारे शरीर को मजबूत बनाता है. इसके सेवन से हमारे शरीर को कभी भी फ्लू नहीं होगा.

तरबूज के बीज के गुण

तरबूज के बीज के गुण :- त्रिभुज के बीज के गुण की बात की जाए तो तरबूज के बीज के बहुत ही ज्यादा गुण है जैसे कि नीचे बताया गया है:-
● हर रोज तरबूज के बीज 10 से 15 खानी चाहिए तरबूज के बीज ज्यादा खाने से तिल्ली की हानि होती है.
● तरबूज के बीज के छिलके को उतारकर जब हमें सिखाते हैं तो हमारे शरीर में ताकत आती है.
● अगर हम त्रिभुज के बीच कुछ भाजपा कर खाते हैं तो दाँतों के पायरिया रोग अधिक लाभ होता है.
● अगर आपको बुरा ना सिर दर्द है तो आप तरबूज की गिरी को निकालकर इसे पीसकर पानी में मिलाकर इसका अच्छी तरीके से ले बनाकर माथे पर लगाएंगे तो आपका पुराना सिर दर्द गायब हो जाएगा.

तरबूज खाने के बाद इन बातों का ध्यान रखें|

● यह पल गर्मियों के लिए बहुत ही अच्छा माना गया है लेकिन वात व कफ प्रकृतिवालों के लिए हानिकारक है. श्वास, कोढ़, सर्दी-खांसी, मधुप्रमेह रक्तविकार के रोगियों इसका सेवन ना करें उनके लिए बहुत हानिकारक हो सकता है.
● तरबूज का रस पानी दूध दही के साथ नहीं पीना चाहिए इस केस साथ हमें अधिक नुकसान उठाना पड़ सकता है.
● दो-तीन घंटे के बाद तरबूज खाने पर चावलों का सेवन ना करें.
● गर्मियों में कटा बासी तरबूज का सेवन ना करें.
● खाली पेट हमें तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए.
● कई बार हम तरबूज को काटते हैं और कई बार हमें इसे रख देते हैं, और जहां ज्यादा समय तक पड़ा रहता है, तो इसे बाद में नहीं खाना चाहिए या आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *