गौतम बुद्ध की शिक्षा Motivational Story in Hindi

गौतम बुद्ध की शिक्षा Motivational Story in Hindi :- यह कहानी है एक लड़के की जिसकी उम्र लगभग 20 साल होती है और वह अनाप होता है उसके मां-बाप बचपन में ही गुजर जाते हैं और वह एक साहूकार के यहां नौकरी करता है वह लड़का बहुत मेहनत करता है और अपना पेट भरता है 1 दिन उस लड़के ने अपने लिए चार रोटी बनाई रोटी रखकर हाथ धोने जाता है तो देखता है तीन रोटी वहां पर पड़ी होती है अगले दिन फिर से ऐसा ही होता है अगले दिन भी उसकी एक रोटी कम होती है और तीसरे दिन वह ध्यान रखता है कि मेरी एक रोटी कहां जाती है तो वह देखता है कि उसकी एक रोटी एक चूहा लेकर जा रहा है

गौतम बुध Motivational Story Hindi
अभी लड़का उस चूहा को पकड़ता है और उसे अपनी रोटी छीन लेता है लेकिन चूहा बोलता है कि कि तुम मेरा हक क्यों छीन रहे हो तो वह लड़का बोलता है कि मैं इतना अमीर नहीं हूं मैं गरीब हूं इसीलिए मैं सिर्फ चार ही रोटी बनाता हूं और उसमें से एक दम ले जाओ फिर मैं क्या खाऊंगा लड़का बोलने लगा मैं बहुत परेशान रहता हूं मैं गरीब हूं और पता नहीं यह सब कब तक चलेगा तो चूहे ने उस लड़के से बोला कि तुम्हें तुम्हारे सवालों का जवाब गौतम बुद्ध जी दे सकते हैं तो तुम्हें उनसे मिलना चाहिए उस लड़के ने गौतम बुध से मिलने का फैसला कर लिया और अपने काम से से 6-7 दिन की छुट्टी ले ली

अभी वह लड़का गौतम बुद्ध जी से मिलने के लिए घर से निकल जाता है जाते-जाते उसे एक जगह रात हो जाती है और अंधेरा होने के कारण उसे उसे कुछ दिखाई नहीं देता तो उसे आगे एक हवेली दिखाई देती हैं वह रात रहने के लिए उस रहने के लिए उस हवेली की मालकिन से मदद मांगता है तो हवेली की मालकिन उस लड़के से पूछती है कि तुम कहां जा रहे हो तो वह बोलता है कि मैं गौतम बुद्ध से मिलने जा रहा हूं तो वह औरत बोलती है कि यह तो बहुत अच्छी बात है कि मैं यहां पर रहने के लिए जगह दे दूंगी लेकिन तुम्हें गौतम बुद्ध से मेरा एक सवाल जरूर पूछना होगा लड़का बोलता है कि ठीक है मैं आपका सवाल जरूर पूछ लूंगा लेकिन आप मुझे सवाल बताइए तो औरत बोलती है कि मेरी लड़की बचपन से ही कुछ भी बोल नहीं पाती तो आप गौतम बुद्ध जी से यह पूछना कि मेरी लड़की कब बोलना शुरू करेगी और उस औरत की आंखों में आंसू होते हैं तो लड़का बोलता है जी मैं आपके सवाल का जवाब जरूर लेकर आऊंगा और वह अगले दिन वहां से निकल जाता है

Advertisement

कुछ बड़ा करने पर मजबूर कर दे Motivation Story In Hindi

रास्ता बहुत लंबा होता है और आगे एक पहाड़ी होती है पहाड़ी पर एक साधु तपस्या कर रहा होता है और वह लड़का उस साधु को बोलता है कि क्या आप मेरी इस पहाड़ी पार करने में सहायता कर पाएंगे तो साधु ने कहा कि तुम कहां जा रहे हो तो उस लड़के ने बोला कि मैं गौतम बुद्ध से मिलने जा रहा हूं उस साधु ने उस लड़के से कहा कि तुम मेरा एक सवाल का जवाब गौतम बुध से लेकर आओगे तो मैं तुम्हें यह पहाड़ी पर करवा दूंगा लड़की ने बोला ठीक है तो साधु ने बोला कि मैं बहुत सालों से यहां पर तपस्या कर रहा हूं और मुझे स्वर्ग की प्राप्ति करनी है तो तुम गौतम बुध से यह पूछना कि मुझे स्वर्ग में जगह कब मिलेगी लड़का बोलता है ठीक है मैं पूछ लूंगा तू वह साधु अपने जादू से उसे वह पहाड़ी पार करवा देता है फिर थोड़ा टाइम चलता है चलता जाता है और आगे एक नदी आती है तो वह नदी पार नहीं कर पाता तो वहां पर कछुआ होता है मैं उससे मदद मांगता है कछुआ बोलता है मैं तुम्हारी मदद कर दूंगा लेकिन तुम जा कहां रहे हो तो लड़का बोलता है कि मैं गौतम बुध जी से मिलने जा रहा हूं तो कछुआ बोलता है कि मैं 700 सालों से इसी नदी पर ड्रैगन बनने की कोशिश कर रहा हूं तो मेरा यह सवाल है कि तुम गौतम बुध से यह पूछना कि मैं ड्रैगन कब बनूंगा लड़का बोलता है ठीक है मैं तुम्हारा जवाब जरूर लेकर आऊंगा और फिर वह लड़का गौतम बुध जी के पास पहुंच जाता है

जैसे वह लड़का वहां पर पहुंचता है तो गौतम बुध जी का जी का प्रवचन चल रहा होता है और जैसे बात समाप्त होता है तो गौतम बुध जी सभी को बोलते हैं कि वह अपने तीन प्रश्न मुझसे पूछ सकते हैं मैं उनका जवाब दूंगा तो अभी लड़का यह सोचने लगता है कि मैं कौन से 3 सवाल पूछे तो वह थोड़ा परेशान हो जाता है और पहले वह उस औरत के बारे में सोचता है जिसकी बेटी बोल नहीं सकती और वह उसका इलाज करवाना चाहती है और उसे उस औरत के आंसू याद आते हैं तो बोलता है कि मुझे इस औरत का जवाब जरूर लेकर जाना है उसके बाद फिर सोचता है कि इस साधु को स्वर्ग प्राप्त करना है और वह बहुत सालों से कोशिश कर रहा है और फिर उस कछुए के बारे में सोचता है और मैं यह तीनों सवाल गौतम बुध जी से पूछना है तो गौतम बुद्ध जी उसे आंसर देते हैं कि उस औरत से जाकर बोलना कि जब तुम अपनी बेटी की शादी करोगी तो उसकी आवाज आ जाएगी और दूसरे प्रश्न का उत्तर देते हुए गौतम बुद्ध कहते हैं कि उस साधु से बोलना कि तुम अपनी छड़ी छोड़ दो तो तुम्हें स्वर्ग की प्राप्ति होगी और फिर प्रश्न का उत्तर देते हुए कहते हैं कि उस कछुए को बोले कि अपना कवच उतार दें और वह ड्रैगन बन जाएगा और वह लड़का वापस चला जाता है

Advertisement

Pendrive size कैसे बढ़ाएं || 8GB पेनड्राइव से 16GB पेनड्राइव करें

अभी लड़का सबसे पहले कछुए से मिलता है और उसे बोलता है कि तुम अपना यह कवच उतार दो तो तुम ड्रैगन बन जाओगे और वह अपना कवच उतारता है और वहां पर मोती ही मोती बिखर जाते हैं और वह कछुआ ड्रैगन बन जाता है कछुआ बोलता है कि मैं मोतियों का क्या करूंगा तो यह मोती तुम ले जाओ वह लड़का मोती उठाता है और साधु के पास पहुंच जाता है अभी वह साधु को बोलता है कि तुम या छड़ी छोड़ दो तो तुम स्वर्ग में चले जाओगे तो वह साधु वह छड़ी उस लड़के को दे देता है और फिर वह उस औरत के पास जाता है और उसे बोलता है कि अपनी लड़की की शादी कर दो तो यह बोलने लग जाएगी उसी वक्त वह औरत बोलती है कि तुम से अच्छा लड़का मुझे कहां मिलेगा तुम मेरी लड़की के साथ शादी कर लो तो है उन दोनों की शादी करवा देती है और उसी टाइम वह लड़की बोलती है कि तुम तो वही हो जो कि हमारे घर में रात रहने के लिए आए थे तो इसी तरह उस लड़की की आवाज वापस आ जाती है

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि जो व्यक्ति अपने स्वार्थ को छोड़कर दूसरों के बारे में सोचता है भगवान उसका भला अपने आप कर देता है और हमें अपने बुराई और गुण और गंदी बातों को छोड़कर आगे बढ़ना चाहिए यह गौतम बुध जी की सीख से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *