गलतियां और असफलता दिखाती है नई राह

गलतियां और असफलता दिखाती है नई राह :– हर व्यक्ति में अच्छे या बुरे बातें जरूर होती हैं और लेकिन ऐसा व्यक्ति कोई नहीं है जिसमें अच्छी अच्छी बातें हो जा किसी में सभी बुरी ही बातें हो| हर व्यक्ति में अच्छी बातें भी होती है और बुरी बातें भी होती है| इसी तरह आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि जो लोग गलतियां करते हैं और बार बार असफल हो जाते हैं, लेकिन आप अपनी असफलता को लेकर ही रोते रहोगे तो इस समस्या का हल नहीं हो सकता, और आप भी टेंशन में पड़ जाते हो और ऐसे व्यक्ति के साथ सभी मनुष्य दूर ही रहते हैं कोई भी उनकी मदद नहीं करना चाहता, इसीलिए गलती होने पर अपने आप को ही कसूरवार नहीं मानना चाहिए | इस स्थिति में आपको हार नहीं मानी चाहिए बल्कि जिसका में आप असफल हुए हो उसे और तरीके के साथ करके देखो आपको सफलता जरूर मिलेगी कई लोग होते हैं जो एक बार असफल हो जाते हैं तो वह इस काम को छोड़ ही देते हैं ऐसा करना बहुत ही गलत बात है, क्योंकि कोई भी व्यक्ति नहीं है, जो दुनिया में पहली बार ही सफलता प्राप्त की हो, और कोई भी काम करने से पहले आपको अपने ऊपर भरोसा होना चाहिए और आप उस काम में मेहनत और लगन लगाकर काम करेंगे तो आप कभी भी असफल नहीं हो, ऐसी बात नहीं है कि आप एक बार असफल हो गए तो आप उस काम को छोड़ दो, ऐसा किसी भी कीमत पर नहीं करना है आपको उस काम को करने के लिए अलग तरीके सोचने चाहिए और उस पर काम करना चाहिए| इसीलिए गलतियां और सफलता हमें दिखाती है रनई राह

1.गलतियां हर किसी से होती है

जिंदगी में हर किसी व्यक्ति से गलतियां होती रहती हैं इस स्थिति में घबराने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि इस स्थिति में तो अपने ऊपर दृढ़ विश्वास बना कर आगे बढ़ना चाहिए और पिछली गलतियां को याद करके अपने काम में बिगाड़ नहीं पाना चाहिए, इस तरह करने से आपकी आत्मा का विश्वास आत्मबल कम होता जाएगा और आप उस काम को ना चाहते हुए भी छोड़ देंगे, अपनी पिछली गलतियां को सोच सोच कर पछताने से कुछ नहीं होगा, बल्कि आप उस गलतियों को सुधारें और अपने काम में जुट जाएं, इस तरह गलतियां हमें कुछ सिखाने के साथ-साथ अपने आप को सुधारने का मौका भी देती है| गलतियों से हमें कोई ना कोई तो सीख मिलती ही है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि एक बार हमने गलती कर दी और हमें सफलता मिल गई तो हम उस काम को सोढ़ी में ऐसा नहीं करना है बल्कि उस गलती को सुधारना है और अपने काम को अच्छे तरीके से करना है |

Read More:-गिरते हुए बालों के कुछ भ्रम | बाल गिरने के भ्रम

2.अपने काम को अधूरा मत छोड़ो

इसी तरह गलतियों से हराकर हमें अपने काम को अधूरा नहीं छोड़ना चाहिए क्योंकि काम को अधूरा छोड़ने का मतलब है कि दूसरी गलती करना इसी तरह हम काम को छोड़कर जाएंगे तो हम कोई भी काम नहीं कर सकते इसीलिए हमें अपने काम को अधूरा नहीं छोड़ना चाहिए और आप से कोई गलती हो गई है, तो उसको सिरदार करना चाहिए और उस गलती को सुधारने की कोशिश करनी चाहिए | इसके लिए वैज्ञानिकों के द्वारा कोई भी वस्तु ऐसे छोड़ दे दी होती तो हमारे पास आज कुछ भी नहीं होता |

Advertisement

3.गलतियों में कैसे सफलता होती है

गलतियों की बात करें तो गलतियों में ही सफलता छुपी होती है लेकिन इसकी जरूरी शर्त यह होती है कि आपके हर एक काम में सुधार हो और नई गलतियां हमारे काम में सुधार लेकर आती है | इसी की प्रकार आप कार ड्राइविंग सीख रहे हो तो आप एक्सीलेंट और क्लच को किसी भी चीज को सही से नहीं यूज करेंगे तो कार बंद हो जाएगी और उस में गड़बड़ी हो सकती है| इसीलिए आप हर काम में थोड़ा थोड़ा सुधार करते हो तो आप बड़े काम में आसानी से सफलता पा सकते हैं, और इसी प्रकार एक की को बार-बार करना मूर्खता की निशानी होती है |इसीलिए गलतियां और असफलता दिखाती है नई राह

Read More:-Chemical cream Use करने से हमें क्या नुकसान होता है, जानिए

4.बड़ा काम और बड़ी गलतियां

कई बार हम बड़ा काम करते हैं और हमारे से बड़ी गलतियां हो जाती हैं जैसे कि हेनरी फोर्ड अपनी पहली कार में बैक गियर लगाना ही भूल गया था| इसीलिए लोगों को तार पीछे मोड़ने में बहुत ही ज्यादा दिक्कत महसूस होती थी इसी प्रकार ही लोग होते हैं जिनको दुनिया की खूबियां नजर ही नहीं आती सिर्फ गलतियां और कमियां ही नजर आती हैं गलती तो हर एक आदमी से होती है लेकिन उस गलती को सुधारना हर किसी के बस की बात नहीं होती |
इसी प्रकार एग्जांपल के तौर पर बताया जाए तो एक बार एक चित्रकार में एक पेंटिंग बनाई और उसने चौक में पेंटिंग लगा दी और उसके नीचे लिख दिया कि ” फिश पेंटिंग में जो भी गलतियां नजर आती हैं उस पर निशान लगा देना|”
इसी तरह अगले दिन चित्रकार ने अगले दिन उस पेंटिंग को देखा तो उस चित्रकार को बहुत ही ज्यादा दुख हुआ की पेंटिंग पर निशान ही निशान थे| इसी प्रकार उसने एक और पेंटिंग बनाकर चौक में टांग दी और उस पर लिख दिया कि इस पेंटिंग में आपको कोई भी गलती नजर आती है तो आप ठीक कर सकते हैं,
इसी तरह चित्रकार ने दूसरे दिन आकर देखा तो उसे वह देख कर हैरान हो गया की उस पेंटिंग में किसी ने भी तब्दीली नहीं की थी,
एक गांव के लड़के ने अपने मास्टर महेंद्र सिंह से पूछा कि आपने आदम कद का बूत कैसे बनाना सिखा? तो उन्होंने बताया कि यह बूत हमने अपनी गलतियों से सीखा है, और उन्होंने बताया कि जब मैं बुद्ध को बनाता था तो वह एक दिन मेरे से जो गलती होती थी,दूसरे दिन मैं उस गलती को सुधारने की कोशिश करता था और वह गलती सुधर जाती थी, इसी प्रकार आज उनको आज के सफल बूत बनाने वाला से जाना जाता है|
इसी प्रकार व्यक्ति गलतियों से ही सबक सकता है, और गलतियां हमारे रास्ते में पत्थर के रूप में होते हैं, जिनको हमें हटाना होता है, इसी प्रकार गलतियों का मतलब होता है कि आप कुछ नया सीख रहे हैं जैसे कि आप कोई काम कर रहे हैं तो आप एक बार उसका में सफल हो जाते हैं तो इसका मतलब आपको पता है कि यह काम किस तरीके से करना है, इसी प्रकार गलतियां हमारी जिंदगी का एक हिस्सा है,

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *